Ookla मोबाइल ब्रॉडबैंड स्पीड टेस्ट अप्रैल 2020 में भारत पाकिस्तान और नेपाल के पीछे

0
5


अप्रैल के महीने में मोबाइल ब्रेस्ट स्पीड में भारत अब तीन पायदान नीचे खिसक गया है। जिसकी वजह से अब भारत 132 वें स्थान पर आ गया है। यह Ookla के स्पीड टेस्ट के आंकड़े हैं।

नई दिल्ली: अगर इंटरनेट की स्पीड स्लो हो जाए तो सारा मूड ख़राब हो जाता है। वैसे तो भारत में मौजूदा टेलिकॉम कंपनियां अपने आप को सबसे बेहतर और फंक्शन बताती हैं लेकिन आप जानते हैं कि मोबाइल ब्रिड स्पीड के मामले में भारत में कौन सा स्थान है? आइये जानते हैं इस रिपोर्ट में …

अप्रैल के महीने में मोबाइल ब्रेस्ट स्पीड में भारत अब तीन पायदान नीचे खिसक गया है। जिसकी वजह से अब भारत 132 वें स्थान पर आ गया है। यह Ookla के स्पीड टेस्ट के आंकड़े हैं। आंकड़ों के मुताबिक अप्रैल महीने में भारत की औसत मोबाइल डाउनलोड स्पीड 9.81 एमबीपीएस रही, जबकि इसकी औसत अपलोड स्पीड 3.98 एमबीपीएस थी। Ookla हर महीने मोबाइल ब्रेज़ स्पीड के आधार पर 139 देशों की लिस्ट बनाता है।

वहीं बुकिंग की औसत मोबाइल डाउनलोड स्पीड, अप्रैल के महीने में 30.89 एमबीपीएस और अपलोड स्पीड 10.50 एमबीपीएस रही है। स्पीड टेस्ट में दक्षिण कोरिया नंबर एक पर रही है, यहां पर मोबाइल डाउनलोड स्पीड 88.01 एमबीपीएस और मोबाइल अपलोड स्पीड 18.14 एमबीपीएस हो रही है। जबकि शीर्ष पांच एनी देशों में कतर, चीन, यूएई और नीदरलैंड शामिल हैं।

यहाँ विशेष बात यह है कि औसत मोबाइल डाउनलोड स्पीड के मामले में भारत, पाकिस्तान और नेपाल जैसे देशों से पीछे रह गया है। इस स्पीड टेस्ट में नेपाल पांच पायदान ऊपर पहुंच कर 111 वें नंबर पर रहा, तो वहीं पाकिस्तान 112 वें स्थान पर रहा। इसके अलावा श्रीलंका को 115 वां स्थान मिला जबकि बांग्लादेश को 130 वां स्थान मिला।

मोबाइल डाउनलोड स्पीड के मामले में रायबेकिस्तान, लीबिया, अल्जीरिया, रवांडा, फ्रांस, वेनेजुएला और अफगानिस्तान जैसे देश ही भारत से नीचे आ रहे हैं। आप खुद इस बात पर सोच सकते हैं कि हमारा देश मोबाइल डाउनलोड स्पीड के मामले में अभी काफी पीछे है।

यह भी पढ़ें

अगर नहीं कर रहे हैं नेटफ्लिक्स का इस्तेमाल किया है, तो कंपनी कर देगी मेंबरशिप कैंसल



Source link