साई सेंटर में 19 की मौत

0
3


अरुण कुमार द्वारा संपादित | आयनों | अपडेट किया गया:

एनबीटी
हाइलाइट्स

  • भारतीय खेल प्राधिकरण के बेंगलुरु केंद्र में एक रसोइए की मौत हो गई है
  • इस इसोईया का कोविड -19 टेस्ट पॉजिटिव पाया गया है, इससे ऐथलीटों में दहशत का माहौल है।
  • इस केंद्र में भारत की महिला और पुरुष हॉकी टीमों के अलावा 10 ऐथलेटिक्स खिलाड़ी भी हैं

नई दिल्ली

भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) के बेंगलुरु केंद्र में खिलाड़ियों को प्रशिक्षण देने के लिए और इंतजार करना होगा, क्योंकि इस केंद्र के एक रसोइए की मौत हो गई है, जिसका बाद में को विभाजित -19 (Covid- 19) का टेस्ट पॉलीटिव आया। इस केंद्र में 25 मार्च से ही कई खिलाड़ी रह रहे हैं। इस केंद्र में भारत की महिला और पुरुष हॉकी टीमों के अलावा 10 ऐथलेटिक्स खिलाड़ी भी हैं।

इस हादसे का मतलब है कि खिलाड़ियों को अब अपने कमरे में ही रहना होगा और प्रोटोकॉल के मुताबिक केंद्र को सैनेटाइज किया जाएगा। यह हादसा तब हुआ जब खेल मंत्रालय और साई बेंगलुरु और पटियाला केंद्र में खिलाड़ियों की ट्रेनिंग फिर से शुरू करने के बारे में सोच रहे हैं और कर भी चुके हैं।

साई ने हालांकि उन खबरों को गलत बताया है, जिसमें कहा जा रहा है कि इस रसोइए के साथ हुई बैठक में तकरीबन 30 लोगों ने हिस्सा लिया। साई ने कहा है, ‘उस बैठक में मरने वाले शख्स को मिलाकर पांच लोग थे। इसलिए बाकी के चार लोगों को क्वारंटीन में भेजा गया है। ‘

साई के एक अधिकारी ने कहा, ‘वह एडमिस्ट्रेटिव ब्लॉक में थे, जो रेजिडेंसियल ब्लॉक से दूर है। उन्हें अपने घर से बाहर आने की मंजूरी नहीं है। ऐसा नहीं है कि वह लोग ज्यादा लोगों से मिले हैं। ‘ उन्होंने कहा, ‘प्रोटोकॉल के मुताबिक हर किसी का टेस्ट किया जाएगा, जिसका परिणाम आने में 24 घंटे लगेंगे। उनका निधन जिस दिन हुआ उसके बाद पता चला कि वह को -19 से चेतन थे। ‘ अधिकारी ने कहा कि केंद्र को सैनेटाइज करने में पांच दिन का समय लग सकता है।



Source link