COVID-19 दुर्लभ बचपन की भड़काऊ बीमारी से जुड़ा है लक्षण जानिए | कोरोना के बाद भारत में फैल सकता है यह बीमारी, बच्चों को बहुत खतरा है, आज ही जानिए इसका लक्षण | स्वास्थ्य – समाचार हिंदी में

0
10


कोरोना के बाद भारत में इस बीमारी का कारण डॉक, बच्चों को बहुत अधिक है, इसके लक्षण जानें

कोरोनावायरस के बाद बच्चों में फैल रही इस बीमारी को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से प्रकट जारी किया गया है।

डॉ। मारिया वैन कोरखोव के अनुसार बच्चों के हाथों में, पैरों पर लाल चकते निकलना, सूजन आना और पेट में दर्द जैसे लक्षण दिखाई देते हैं तो ये इन्फ्लेमेट्री वे हो सकते हैं।

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण (कोरोना वायरस) के बीच भारत में अमेरिका और यूरोपीय देशों की एक बीमारी (रहस्यमय बीमारी) ने दस्तक दी है। इस दुर्लभ बीमारी के लक्षण चेन्नई में एक 8 साल के बच्चे में दिखे हैं। डॉक्टरों के अनुसार, इस दुर्लभ बीमारी से पीड़ित बच्चे के पूरे शरीर पर लाल चकते पड़ गए थे और उसके पूरे शरीर में सूजन आ गई थी। जिसके बाद उसे कांची कामकोइट चाइल्ड्स ट्रस्ट अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था। अब बच्चा पूरी तरह से स्वस्थ हो गया है। इस बीमारी से अमेरिका और यूरोपीय देशों में कई बच्चों की मौत हो गई है। इस बीमारी के कुछ लक्षण कोरोनावायरस से मिलते-जुलते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (विश्व स्वास्थ्य संगठन) की ओर से इस बीमारी के लिए समीक्षा जारी की गई है।

बच्चों के लिए बड़ा खतरा

डॉक्टरों के अनुसार इस बीमारी में शरीर में मल्टी सिस्टम इन्फ्लेमेंट्री सिंड्रोम (मल्टी सिस्टम इन्फैंट्री सिंड्रोम) यानी जहरीले तत्व उत्पन्न होने लगते हैं और धीरे-धीरे पूरे शरीर में फैलते हैं। इस दुलर्भ बीमारी में शरीर के कई हिस्से काम करने बंद कर देते हैं, जिससे बच्चे की मौत हो सकती है।

अधिक विभाजित क्षेत्रों में लेसेंट की रिपोर्ट के अनुसार, इटली के शोधकर्ताओं ने कोरोनावायरस और इस दुलर्भ बीमारी के बीच का संबंध ढूढ लिया है। शोधकर्ताओं ने इस बीमारी को पीडिएट्रिक इन्फ्लेमेट्री मल्टी-सिस्टम वर्न नाम दिया है। रिपोर्ट के अनुसार उत्तरी इटली के जिन इलाकों में कोविड -19 के मामले में सबसे ज्यादा आए थे, इस बीमारी से पीड़ित बच्चों की दर 30 गुणा ज्यादा थी। वहीं, अमेरिका के रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (सीडीसी) ने भी न्यूर से पीड़ित 145 मामलों के कोरोना से संबंध होने की जानकारी दी है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने जारी किया समीक्षा

कोरोनावायरस के बाद बच्चों में फैल रही इस बीमारी को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से प्रकट जारी किया गया है। डॉ। मारिया वैन कोरखोव के अनुसार बच्चों के हाथ, पैरों पर लाल चकत्ते निकलना, सूजन आना और पेट में दर्द जैसे लक्षण दिखाई देते हैं तो ये इन्फ्लेमेट्री वेर हो सकते हैं। अगर किसी बच्चे में यह लक्षण दिखाई देता है तो परिजनों को तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। वहीं, यह मामला माइकल जे। रेयान ने कहा, ‘हो सकता है कि बच्चों में दिखने वाला मल्टीसिस्टम इन्फ्लामेट्री डाइरैक्ट कोरोनावायरस के लक्षण न वायरस के खिलाफ शरीर के रोग प्रतिरोधक तंत्र की अत्यधिक सक्रियता का परिणाम हो।’

बच्चों में इस तरह की पहचान बीमारी के लक्षण

– हाथ पैर या शरीर के किसी भी हिस्से में अत्यधिक सूजन का होना।
– 5 दिन या उससे अधिक दिनों तक तेज लिन का रहना।
– गर्दन में सूजन का आना।
– बच्चे की आँखों का लाल होना या फिर आँखों में दर्द महसूस होना।
– होंठ, जीभ पर लाल दाने या चकते का आना।
– स्किन में किसी तरह का बदलाव या स्किन के रंग का पीला या नीला पड़ना।
– कई दिनों तक पेट में तेज दर्द रहना, उल्टी आना या फिर डायरिया जैसी समस्याएं हो सकती हैं।
– बच्चे का तेज सांस लेना या फिर सांस लेने में किसी तरह की समस्या होना।
– हार्ट बीट्स का तेज होना या छाती में दर्द होना।

ये भी पढ़ें: – कोरोना की ‘संजीवनी गोलियाँ’ बनीं ये 5 दवाइयां, दुनिया भर में ठीक हो मरीज

News18 हिंदी पर सबसे पहले हिंदी समाचार पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। देखिए स्वास्थ्य और फिटन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें।

प्रथम प्रकाशित: 19 मई, 2020, 7:15 PM IST


इस दिवाली बंपर अधिसूचना
फेस्टिव सीजन 75% की एक्स्ट्रा छूट। सिर्फ 289 में एक साल के लिए सब्सक्राइब करें करें मनी कंट्रोल प्रो।कोड कोड: DIWALI ऑफ़र: 10 नवंबर, 2019 तक

->





Source link