चीन से भारत में लावा शिफ्ट आईटी ऑफिस होगा 800 करोड़ – चीन को भारत छोड़ना होगा 800 करोड़ का निवेश होगा LAVA

0
18


  • भारत में काम शुरू होगा लावा
  • 800 करोड़ निवेश से धडल्ले से रोजगार बढ़े

नई दिल्ली: कोरोनवायरस के कारण सभी को नौकरी पर खतरा नजर आ रहा है अगर आप भी उन्ही में से है तो आपके लिए खुशखबरी है।]वास्तव में लगभग 1000 कंपनियां आने वाले वक्त में भारत में काम शुरू करना चाहती हैं। इसकी शुरुआत लावा ने कर भी दी है। मोबाइल उपकरण बनाने वाली कंपनी लावा इंटरनेशनल (LAVA INTERATIONAL) ने चीन से अपना कारोबार समेट कर भारत में आने की घोषणा कर इसकी शुरूआत की है। कंपनी ने ये फैसला भारत द्वारा हाल ही में के लिए नीतिगत बदलावों के बाद किया है।

20 लाख करोड़ के पैकेज के बावजूद क्यों जनता को नहीं मिली राहत, जानें मोदी का पैकेज बाकी देशों से अलग क्यों?

800 करोड़ का निवेश करेगी कंपनी- LAVA कंपनी ने अगले 5 साल के दौरान 800 करोड़ रुपये के निवेश की योजना बनाई है। ये निवेश (निवेश) कंपनी अपने मोबाइल फोन विकास और मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ाने के लिए करेगी। लावा इंटर्न (LAVA International) के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक हरि ओम राय ने बताया कि प्रोडक्ट डिजाइन के क्षेत्र में चीन में हमारे कम से कम 600 से 650 कर्मचारी हैं। हमने अब डिजाइनिंग का काम भारत में स्थानांतरित कर दिया है। इसके लिए कंपनी ने कारखाने में शुरू करने का निश्चय किया है। कंपनी अभी तक चीन में प्रोडक्ट निर्माण कर पूरी दुनिया में मोबाइल एक्सप करती थी अब यही काम भारत के मार्केटिंग में किया जाएगा।

1000 कंपनियां भारत में करना चाहती हैं व्यापार- कोरोनावायरस (CORONAVIRUS) के बाद लगभग 1000 विदेशी कंपनियां चीन से अपना बोरिया-बिस्तर बांधने की तैयारी में है, जो कि 300 कंपनियों से ज्यादा कंपनियां भारत में काम शुरू करने की इच्छुक हैं और इसके लिए उन्होने भातरत में संबंधित अधिकारियों से बात शुरू कर दी है। लॉकडाउन खुलने के साथ ही ये कंपनियां काम भी शुरू कर सकती हैं।







और दिखाओ